केजरीवाल सरकार ने फिर रचा नया इतिहास, दिल्लीवालों को 1 रुपये की दर से बिजली देने के लिए लाए ये नई योजना !

0
2260

 

केजरीवाल ने एक तीर से लगाए दो निशाने, दिल्लीवालों को 1 रुपये की दर से बिजली देने के साथ सौर ऊर्जा से प्रदूषण पर करेंगे वार।

देश में सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में मुहैया कराने के बाद केजरीवाल सरकार फिर से एक ऐसी योजना लेकर आयी है जो नया इतिहास रचेगी, जिससे ना सिर्फ रिन्यूएबल एनर्जी से दिल्लीवालों को सस्ती बिजली मुहैया होगी साथ ही दिल्ली में प्रदूषण भी कम होगा। दिल्ली में प्रदूषण की समस्या काफी समय से बढ़ रही है जिसके रोकने में केजरीवाल सरकार की यह योजना बेहद कारगर साबित होगी। इस योजना का नाम है ‘मुख्यमंत्री सोलर पावर योजना’। इस योजना के तहत सोलर पैनल लगाने के लिए दिल्ली सरकार, ग्रुप्स हाउसिंग सोसायटी और सोलर पैनल लगाने वाली कम्पनी के बीच ट्राई पार्टीज म्यूचुअल अग्रीमेंट होगा।

 

कैसे काम करेगी ये योजना :


जिसमें सोसाइटी में रहने वाले लोगों को कोई पैसा नहीं लगाना है, पैसा खुद कम्पनी लगाएगी और देखभाल के जिम्मा भी कम्पनी का ही होगा। आपको बस अपनी छत पर सोलर पैनल लगाने के लिए जगह देनी है। जब इसका ट्रायल पड़पडग़ंज में किया गया था तो वहां 3 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली उत्पन्न हुई। इस 3 रुपये प्रति यूनिट के खर्च में दिल्ली सरकार 2 रुपये की सब्सिडी देगी जिससे जनता को बिना किसी खर्च के मात्र 1 रुपये में बिजली मुहैया हो सकेगी।

 

इस योजना में बिल्कुल मुफ्त बिजली कैसे मिलेगी :


इसमें एक खास स्थिति ऐसी भी है कि जिसमें सोसाइटी को 1 रुपया भी ना देना पड़े और मुफ्त में बिजली का उपयोग कर सकें। जैसे- अगर सोसाइटी को 100 किलोवाट की बिजली की आवश्यकता है लेकिन वो सोलर पैनल लगाने के लिए 150 किलोवाट लायक जमीन दे दें तो हो सकता है कि उनको बिजली उपभोग के लिए 1 रुपया भी ना देना पड़े बिल्कुल मुफ्त बिजली मिले।

 

पर्सनल घरों में इस योजना का लाभ कैसे उठाएं :


इस योजना में एक प्रोविजन भी है अगर आप ग्रुप सोसाइटी में नहीं रहते और अपने पर्सनल घर में ऐसे ही सोलर पैनल लगवाकर इस योजना के जरिये 1 रुपये की दर से बिजली का लाभ उठाना चाहता है तो उसके लिए भी आप कम्पनी से सोलर पैनल लगवा सकते हैं। अगर कम्पनी नहीं खुद से भी आप अपने घर में सोलर पैनल लगवाते हैं तो दिल्ली सरकार उस बिजली पर आपको 2 रुपये की सब्सिडी देगी और मात्र 1 रुपये में आपको पर्सनल घर में बिजली मुहैया हो सकेगी।

 

भविष्य में इस्तेमाल के लिए बिजली स्टोर कैसे होगी :


सबसे अच्छी बात है कि इसमें ग्रिड भी लगा होगा जिसमें आप उत्पन्न बिजली को स्टोर करके रख सकेंगे। मान लीजिए अभी आपको बिजली की जरूरत नहीं है तो उत्पन्न बिजली ग्रिड में जमा होती रहेगी आप चाहें ग्रिड से बिजली इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

सोलर पैनल लगने के बाद आप अपनी छत का पर्सनल यूज कैसे करेंगे :


100 वर्ग मीटर की छत पर 10 किलोवाट का सोलर पैनल लग सकता है। सोलर पैनल को जमीन से 2.4 मीटर यानी 8 फुट ऊंचाई पर भी लगा सकते हैं जिससे आपकी छत बेकार नहीं होगी। पहले लोग सोलर पैनल इसलिए नहीं लगवाते थे कि इससे उनकी छत घिर जाती थी पर्सलन काम के लिए वो छत का उपयोग नहीं कर पाते थे लेकिन दिल्ली सरकार ने इसका भी तोड़ निकाल लिया है। छत से 8 फुट ऊपर उठाकर शेड लगाकर सोलर पैनल लगाए जाएंगे तो आराम से जनता को अपनी छत पर बैठने,काम करने की जगह भी मिलेगी और छांव भी।

 

ऊर्जा मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बताया है कि दिल्ली सरकार अभीतक 105 मेगावॉट क्षमता तक के सोलर पैनल छतों पर लगा चुकी है। सरकारी स्कूलों और अस्पतालों में भी ये लग रहे हैं। फिलहाल आवासी क्षेत्रों में इस सौर ऊर्जा का प्रयोग कम देखने को मिलता है जिसको बढ़ाने के लिए केजरीवाल सरकार इस खास योजना को लेकर आई है। दिल्ली सरकार को उम्मीद है कि पहले ही साल में इस योजना के अंतर्गत 200 मेगावॉट के सोलर पैनल लगाए जा सकेंगे।



*This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here