केजरीवाल के हरियाणा दौरे से बैकफुट पर आई BJP सरकार, सत्ता हाथ से जाने के डर से करने लगी है स्कूल-अस्पताल सुधारने की बातें।

0
1330
केजरीवाल के हरियाणा दौरे से बैकफुट पर आए हरियाणा सरकार के मुख्यमंत्री खट्टर ने अपनी सरकार के 4 साल पूरा होने के मौके पर बयान में कहा कि अब उनकी सरकार शिक्षा और स्वास्थ्य पर फोकस करेगी। इसे हाल ही में दिल्ली के CM केजरीवाल द्वारा हरियाणा दौरे से जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि केजरीवाल ने दौरे में हरियाणा के सरकारी स्कूलों को बेहद बदतर हालत में पाया था।
हालांकि केजरीवाल के आने की पूर्व सूचना पर हरियाणा प्रशासन सतर्क हो गया था और रातों-रात स्कूल की मरम्मत का काम शुरू करवाया गया। लेकिन इसके बावजूद दौरे में हरियाणा के सरकारी स्कूल किसी खंडहर जैसे नजर आ रहे थे और तो और बच्चे जिस क्लास रूप में पढ़ रहे थे वहां रोशनी और बिजली तक कि कोई व्यवस्था नजर नहीं आयी। हरियाणा के स्कूलों की इतनी बदहाल स्तिथि का खुलासा होने के कारण BJP की खट्टर सरकार की बहुत आलोचना हुई थी।
CM केजरीवाल ने खट्टर के स्कूल-अस्पताल सुधारने के बयान को बेहद हास्यास्पद बताते हुए कहा कि ये भाजपा वाले जनता को गुमराह करने के अलावा और कुछ नहीं कर रहे हैं। सवाल यह है कि उनके हरियाणा दौरे के बाद ही उनको ये बात क्यों समझ आई कि शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं पर फोकस करना उनकी सरकार की जिम्मेदारी है। 3 साल पहले दिल्ली के सरकारी स्कूलों की हालत हरियाणा से भी बद्तर थी लेकिन हमने 3 साल में दिल्ली के सरकारी स्कूलों का कायापलट करके दिखाया है।
केजरीवाल ने कहा कि अगर नियत साफ हो और ईमानदारी से सरकार चलाई जाए तो असम्भव से दिखने वाले काम भी सम्भव किये जा सकते हैं लेकिन BJP सरकार ऐसा नहीं कर पायी दरअसल यह उनके बस का ही नहीं है क्योंकि उनकी नियत साफ नहीं है चुनाव नजदीक आते देख ‘आप’ के दबाव में बैकफुट पर आयी भाजपा सरकार अभी स्कूल और अस्पताल सुधारने की बातें कर रही है लेकिन चुनाव के बाद हमेशा की तरह BJP अपने वादे को चुनावी जुमला बताकर जनता से वादाखिलाफी करती है।


Important :   *This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.    

Leave a Reply