केजरीवाल ने अमित शाह को दी सबसे बड़ी चुनौती, है दम तो आओ रामलीला मैदान में जनता के बीच कर लो ‘मोदी Vs केजरीवाल’ के काम पर खुली बहस।

0
1205

 BJP अध्यक्ष अमित शाह को पहली बार किसी ने दी खुली चुनौती, क्या शाह करेंगे स्वीकार ?

पूर्वांचल महाकुम्भ समारोह में ‘केजरीवाल ने दिल्ली के लिए क्या काम किया है?’ BJP अध्यक्ष अमित शाह के इस सवाल पर केजरीवाल ने तीखा हमला करते हुए सीधे अमित शाह को ही चैलेंज दे दिया की आओ रामलीला मैदान में आकर इस पर खुली बहस कर लेते हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, “अमित शाह जी, जितने काम मोदी जी ने 4 साल में किए, उस से 10 गुना ज़्यादा काम हमने किए। मोदी जी ने जितने जनविरोधी और ग़लत काम किए, हमने एक भी ऐसा काम नहीं किया।  …. मैं आपको चैलेंज देता हूँ। आइए इसी राम लीला मैदान में इस पर एक खुली बहस हो जाए-दिल्ली की सारी जनता के सामने।”

 

दिल्ली सरकार के बेमिसाल काम का डंका आज पूरे विश्व में बज रहा है। मोदी जी से ना तो दिल्ली की सफाई होती है ना ही पुलिस सम्भाली जाती है। – CM अरविंद केजरीवाल

 

CM केजरीवाल ने आगे कहा की हमें दिल्ली वालों ने बिजली, पानी, शिक्षा और अस्पतालों की ज़िम्मेदारी दी थी। इनमें हुए अच्छे कामों का डंका आज पूरी दुनिया में बज रहा है।

मोदी सरकार को दिल्ली के लोगों ने दो ही काम दिए थे – सफ़ाई और पुलिस। आपने दोनों का बेड़ा गर्क कर दिया। ना आपसे दिल्ली की सफ़ाई होती है और ना पुलिस संभलती।

अमित शाह पर केजरीवाल का हमला यहीं नहीं रुका। जब पूर्वांचल समारोह के दौरान अमित शाह ने अपनी शेखी बघारते हुए बताया कि हमने पूर्वांचल वालों के विकास के लिए कोंग्रेस के समय से ज्यादा पैसा दिया है तो केजरीवाल ने अमित शाह की खिंचाई करते हुए पूछा कि “अमित शाह जी, आपने दिल्ली को 14वें वित्त आयोग में कितने रुपये दिये? मात्र 325 करोड़? दिल्ली में भी तो पूर्वांचल के लोग रहते हैं। उनके विकास के लिए क्यों नहीं पैसे दिए? दिल्ली में रहने वाले पूर्वांचल के लोगों के ख़िलाफ़ केंद्र सरकार का भेदभाव क्यों?”

अब यह देखना बेहद दिलचस्प होगा कि क्या भारत के सबसे ताकतवर शख्स माने जाने वाले BJP अध्यक्ष अमित शाह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का चैलेंज स्वीकार करते हैं या नहीं। अगर रामलीला मैदान में दोनों नेताओं के बीच काम के मुद्दे पर ‘मोदी सरकार Vs केजरीवाल सरकार’ की बहस हुई तो आज़ाद भारत के इतिहास में पहला मौका होगा।



Leave a Reply