सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन पर दिल्ली के CM की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक, मनोज तिवारी के साथ आए गुंडों ने की केजरीवाल पर हमला करने की कोशिश, आप ने जारी किया वीडियो।

0
1699

आम आदमी पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के समय के 5 वीडियो जारी करते हुए दिखाया कि कैसे BJP सांसद मनोज तिवारी ने अपने गुंडों के साथ सिग्नेचर ब्रिज पर उत्पात मचाया। जहां मनोज तिवारी ने दिल्ली पुलिस के IPS अफसर को थप्पड़ मारा वहीं वीडियो में उनके साथ आए गुंडे मंच पर भाषण दे रहे मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला करते हुए दिखाई दिए।

आप नेता दिलीप पांडे ने पहले 2 वीडियो में दिखाया कि शाम 3 बजे से ही मनोज तिवारी अपने गुंडों के साथ सिग्नेचर ब्रिज पर आकर हंगामा मचाने लगे। उन्होंने जय श्री राम और मोदी-मोदी का नारा लगाते हुए वहां मौजूद जनता के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी और कुर्सियां उठाकर फेंकने लगे। यहाँ तक कि वे सिक्यॉरिटी के बावजूद स्टेज तक पर चढ़ गए।

यहीं नहीं उन्होंने सिग्नेचर ब्रिज पर लगे पोस्टर्स फाड़कर सरकारी सम्पत्ति को नुकसान भी पहुंचाया। जबकि उनके पास में खड़े पुलिसवाले से एक व्यक्ति ने जाकर शिकायत भी की लेकिन दिल्ली पुलिस चुपचाप बुत बनी सारा तमाशा देखती रही BJP के गुंडों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कि।

तीसरे वीडियो में उन्होंने दिखाया कि कैसे BJP सांसद ने पुलिस से झड़प के दौरान IPS अफसर को थप्पड़ मारा, उन्हें मां-बहन की गलियां दीं और उन्हें 4 दिन में देख लेने की धमकी भी दी। दिलीप पांडे ने कहा कि अखबार में छपी माननीय DCP अतुल ठाकुर का गिरेबान पकड़े मनोज तिवारी की यह शर्मसार तस्वीर साबित करती है कि BJP के सांसदों के गुंडई वाले हाथों की पहुंच में कानून के रखवालों का गिरेबान है। और पुलिस BJP की जेब में है। दिल्ली में कानून व्यवस्था को खुद वही रौंद रहे हैं जिनपर कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी है।

चौथे वीडियो में उन्होंने दिखाया कि जब मुख्यमंत्री केजरीवाल उद्घाटन पश्चात स्टेज पर भाषण दे रहे थे तभी नीचे मौजूद मनोज तिवारी के गुंडों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला किया। पहले उन गुंडों ने स्टेज पर चढ़ने की बहुत कोशिश की लेकिन सफल ना होने पर नीचे से ही CM केजरीवाल पर एक के बाद एक कई बोतलें फेंक कर हमला करना शुरू कर दिया।

खुशकिस्मती है कि वो CM साहब को नहीं लगी लेकिन यह मामला बेहद गम्भीर है। उस बोतल में तेजाब जैसा कोई भी घातक पदार्थ हो सकता था। उन लोगों की कोई चेकिंग तो की नहीं गयी थी। वे बोतल की जगह चाकू-छुरी या गोली कुछ भी मार सकते थे।

उन्होंने बताया कि सिक्यॉरिटी नियम के मुताबिक CM पर हमला करने का प्रयास करने वालों को तुरन्त मौके पर गिरफ्तार कर जेल में डाला जाता है। लेकिन दिल्ली पुलिस को अपनी ड्यूटी से बेखबर बगल में खड़ी सोती रही। अभीतक CM पर हमला करने करने वालों को गिरफ्तार नहीं किया गया है। हम गृहमंत्री राजनाथ जी से गुज़रिश करते हैं कि CM की सुरक्षा के साथ कोप्रोमाइज करने वाली पुलिस और सिग्नेचर ब्रिज पर उपद्रव करने वाले BJP के गुंडों पर FIR दर्ज कर जांच कराएं क्योंकि दिल्ली पुलिस और कानून व्यवस्था उनके ही अंडर आती है।

अमानतुल्ला द्वारा मनोज तिवारी को धक्का देने सम्बन्धी जवाब देते हुए दिलीप पांडे ने पांच वीडियो दिखाकर बताया कि आप विधायक अमानतुलल्ला खान ने धक्का क्यों दिया। दरअसल स्टेज पर चढ़कर CM केजरीवाल पर हमला करने के लिए मनोज तिवारी अपने गुंडों को उकसा रहे थे। वीडियो में साफ दिख रहा है कि जब पुलिस ने उन गुंडों को स्टेज पर नहीं चढ़ने दिया तो उन्होंने पुलिस को लात मारी, पुलिस के हाथ से डंडे छीन लिए और पुलिसवालों को घूंसे तक मारे। इन गुंडों को उकसा रहे मनोज तिवारी को स्टेज से हटाते हुए अमानतुल्ला ने धक्का दिया था लेकिन IPS अफसर को थप्पड़ मारने वाले मनोज तिवारी जरा से धक्के से आहत हो गए। अब जब पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है और BJP के गुंडों के हाथों के चुपचाप मार खा रही है तो क्या विधायक अमानतुल्ला खान CM पर हमला करने वालों को रोकने का प्रयास भी ना करें ?

उन्होंने कहा कि रामायण काल से जब साधु-संत यज्ञ करते आए हैं तो कुछ दूषित मानसिकता वाले लोग उसमें बाधा डालने आते ही हैं। जब दिल्लीवालों का 14 साल का इंतेज़ार खत्म करते हुए केजरीवाल सरकार ने सिग्नेचर ब्रिज का तोहफा दिया तो निकम्मी BJP से देखा नहीं गया उसमें उपद्रव करने आ गयी।

Also Read :
‘ठुल्ला’ कहने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट जाने वाली दिल्ली पुलिस सिग्नेचर ब्रिज पर BJP सांसद मनोज तिवारी का थप्पड़ खाकर बोली सब कुछ संतोषजनक था।



*This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.

Leave a Reply