दिल्ली सरकार ने दिए मनोज तिवारी पर FIR दर्ज कर गिरफ्तार करने के निर्देश।

0
1707

एक सोची समझी साजिश के तहत सिंगनेचर ब्रिज पर दंगा-फसाद करने और CM केजरीवाल पर हमला कराने के मकसद से आए थे BJP सांसद मनोज तिवारी !

सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के दौरान उत्पात मचाने के लिए दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने BJP सांसद मनोज तिवारी और उनके साथ आए गुंडों और BJP कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।

आपको बता दें पहले ही सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के दौरान मचे उत्पात पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने चिंता जताते हुए कानूनी कार्यवाही करने की बात कही थी, उन्होंने कहा था कि “आज जो हुआ वह बेहद चिंताजनक है। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार के प्रोग्राम, मुख्यमंत्री, मंत्री समेत सिंगनेचर ब्रिज पर उपस्थित सारी जनता की सुरक्षा BJP के गुंडों के हाथों पर छोड़ रखी थी। दिल्ली सरकार इसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने पर विचार कर रही है।

सत्येंद्र जैन ने आदेश दिया कि मनोज तिवारी के खिलाफ आपराधिक साजिश, दंगा फसाद और सरकारी अधिकारियों के साथ बदसलूकी कर सरकारी काम में बाधा डालने से सम्बंधित सभी धाराओं में केस दर्ज किया जाए। और पुलिस कमिश्नर, सम्बंधित डिस्ट्रिक्ट DCP को शिकायत देकर तुरन्त इस केस पर कानूनी कार्यवाही शुरू की जाए।

सत्येंद्र जैन ने पत्र में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन का जिक्र करते हुए कहा कि इसका उद्घाटन पूर्व निर्धारित था। इसके लिए गृह विभाग नोडल एजेंसी था। समारोह स्थल पर सुरक्षा के इंतजाम सहित अन्य इंतजामों के लिए सभी संबंधित विभागों और एजेंसियों को पहले से सूचना भेजी जा चुकी थी।

ऐसे में सांसद मनोज तिवारी और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उद्घाटन अवसर पर पहुंचकर कार्यक्रम को अव्यवस्थित करने की कोशिश की। न केवल उन्होंने कार्यक्रम में उपद्रव फैलाया बल्कि वहां तैनात पुलिस और दिल्ली सरकार के अधिकारियों को परेशान करते हुए उन्हें उनकी डयूटी करने से रोका।

Also Read : सिग्नेचर ब्रिज की ख़ूबसूरती देख बौखलाए मनोज तिवारी ने दिल्ली पुलिस के IPS अफसर को जड़ा तमाचा….

BJP सांसद मनोज तिवारी एक सोची समझी साजिश के तहत सिंगनेचर ब्रिज पर दंगा-फसाद और CM केजरीवाल पर हमला कराने के मकसद से आए थे। उन्होंने पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट की वहीं उनके साथ आए गुंडों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला करने की कोशिश की।

जब अपने गुंडों के साथ जबरदस्ती स्टेज पर चढ़ रहे BJP सांसद मनोज तिवारी से मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात एक कर्मचारी ने समारोह स्थल से चले जाने के लिए कहा तो वे और उनके कार्यकर्ता उग्र हो गए। इसके बाद सांसद ने न केवल कार्यक्रम में बाधा पहुंचाई बल्कि अधिकारियों को भी धमकाया।

आश्चर्य की बात है कि अपने पुलिस अधिकारियों के साथ मारपीट करने वाले BJP सांसद पर कोई कार्यवाही क्यों नहीं कर रही दिल्ली पुलिस ? : आप सांसद संजय सिंह

आप राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस मामले में दिल्ली पुलिस आयुक्त को पत्र लिखा है। पत्र में सिंह ने कहा कि सिग्नेचर ब्रिज मामले की जानकारी अब पूरी तरह से सार्वजनिक हो चुकी है। सांसद मनोज तिवारी और भाजपा कार्यकर्ताओं ने वहां क्या किया, इसके वीडियो और स्टिल फुटेज से सारी स्थिति स्पष्ट है। उन्होंने कहा है कि वहां मनोज तिवारी और उनके कार्यकर्ताओं ने उपद्रव मचाया।

आप सांसद संजय सिंह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर पूछा- “सिग्नेचर ब्रिज लोकार्पण में मनोज तिवारी की गुंडागर्दी मामले के कार्रवाई क्यों नहीं हुई? मनोज तिवारी ने डीसीपी अतुल ठाकुर का कॉलर पकड़ा, एक अन्य डीसीपी आरपी मीणा पर हाथ चलाया। अपने ही पुलिस अधिकारियों के साथ मामले पर भी चुप क्यों है दिल्ली पुलिस?”

संजय सिंह ने कहा कि यह तो स्पष्ट है कि पुलिस राजनैतिक दबाव में काम करती है लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि पुलिस अफसरों के साथ मारपीट करने वाले BJP नेताओं के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कि जा रही है। आज दिल्ली पुलिस अपने ही अधिकारियों के साथ नहीं खड़ी है।

Also Read : ‘ठुल्ला’ कहने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट जाने वाली दिल्ली पुलिस सिग्नेचर ब्रिज पर BJP सांसद मनोज तिवारी का थप्पड़ खाकर बोली सब कुछ संतोषजनक था।



Important :   *This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.    

Leave a Reply