‘CS के घर भेजी फाइलें तो कहा मंडे को ऑफिस भेजें’

0
225

दिल्ली सरकार और चीफ सेक्रेटरी के बीच शुरू हुए विवाद में अब एक और कड़ी जुड़ गई है। चीफ मिनिस्टर ऑफिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बजट पेश करने में अब कुछ ही दिन बचे हैं, इसलिए चीफ सेक्रेटरी के घर पर संडे को फाइलें भिजवाई गईं तो वहां से जवाब मिला कि इन्हें मंडे को ऑफिस ऑवर्स में उनके कार्यालय में भिजवाया जाए।

दरअसल दिल्ली सरकार इस बार अपने बजट में एक नया प्रयोग करने जा रही है। बजट में जिन-जिन प्रोजेक्ट्स की घोषणा होगी, उन सभी की टाइमलाइन फिक्स की जाएगी। यानी कैबिनेट नोट तैयार होने से प्रोजेक्ट के पूरा होने और शुरू होने की टाइमलाइन फिक्स की जानी है। इन सभी जानकारियों को बजट के जरिए सदन में पेश किया जाएगा। इससे सभी की जवाबदेही तय की जा सकेगी।

सीएम ऑफिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि संडे को चीफ सेक्रेटरी के घर पर मोहल्ला क्लिनिक पॉलीक्लिनिक से जुड़ी फाइलें भेजी गई थीं, जिन पर सीएम के कमेंट भी थे। सीएम जानना चाहते थे कि आखिर हेल्थ डिपार्टमेंट ने अभी तक 530 साइट्स के लिए एनओसी क्यों नहीं हासिल की/ 243 नए मोहल्ला क्लिनिक कब से शुरू होंगे/ सीएम चाहते हैं कि चीफ सेक्रेटरी यह सुनिश्चित करें कि इन मोहल्ला क्लिनिक को कब से शुरू किया जाएगा और डॉक्टरों की नियुक्ति के लिए क्या किया जा रहा है/ इसी तरह से दूसरी फाइल फर्स्ट फेज में 47 पॉलीक्लिनिक के शुरू होने और सेकंड फेज में भी इतने ही क्लिनिक शुरू होने के बारे में थी। जिसे बजट को देखते हुए सीएस के पास भिजवाया गया था। सीएम ने खासतौर पर टाइमलाइन के बारे में पूछा है।



Leave a Reply