गौशाला संचालकों के अनुरोध पर हरियाणा की गौशालाओं को देखने जाएंगे अरविंद केजरीवाल

0
20

सोनीपत की एक गौशाला देखने जा रहे हैं अरविंद केजरीवाल

– दिल्ली में गौशालाओं को रोजाना प्रति गाय 40 रुपये दिया जाता है, जबकि हरियाणा में मात्र 39 पैसे

नई दिल्ली। गौशाला संचालकों और स्थानीय लोगों के अनुरोध पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल आज सोनीपत की एक गौशाला देखने जा रहे हैं। अब तक के कार्यक्रम के हिसाब से अरविंद केजरीवाल 13 जनवरी, 2019, रविवार को गांव सैदपुर अठगामा गौशाला, दिल्ली-खरखोदा रोड, सोनीपत, 14 जनवरी, 2019, सोमवार को गांव मोखरा, श्रीकृष्ण गौशाला समिति, रोहतक और 15 जनवरी, 2019, मंगलवार को श्री गौशाला साला डेरी दात्ता हांसी, हिसार जाएंगे।

इससे पहले हरियाणा के लोगों के बुलावे पर अरविंद केजरीवाल वहां के सरकारी स्कूलों और डिस्पेंसरियों को भी देखने जा चुके हैं। हरियाणा की सियासी अखाड़े में स्कूल-अस्पताल को चुनावी मुद्दा बना चुके अरविंद केजरीवाल हर लोकसभा में ‘स्कूल-अस्पताल रैली’ भी कर रहे हैं।

इससे पहले 11 जनवरी, 2019, शुक्रवार को अरविंद केजरीवाल दिल्ली के बवाना में स्थित श्रीकृष्ण गौशाला के निरीक्षण के लिए गये थे। वहां उन्होंने कहा, “गाय के नाम पर वोट मांगने वाले गाय को चारा भी नहीं देते। हम गाय के नाम पर राजनीति नहीं करते। गाय के नाम पर वोट नहीं मांगते। गाय की सेवा करते हैं। मेरा मानना है कि गाय के नाम पर राजनीति नहीं होनी चाहिये। गाय के नाम पर वोट नहीं मांगा जाना चाहिए। गाय की सेवा करनी चाहिए।”

बवाना में केजरीवाल ने ये भी कहा, “गाय के नाम पर वोट मांगने वाले गाय के लिए पैसे नहीं दे रहे। भाजपा की एमसीडी ने यहां की गायों के लिए पैसे नहीं दिये हैं। हमने पैसे दिये हैं। अब हम एमसीडी से भी यहां के बकाया पैसे दिलवाएंगे। दिल्ली सरकार के शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी के काम की चर्चा देश में ही नहीं पूरी दुनिया में है। वैसे ही, इस गौशाला को देखकर समझा जा सकता है कि गौशालाओं के लिए दिल्ली सरकार ने कितना शानदार काम किया है। इस गौशाला को देखने के बाद आपको पता लगेगा कि असली में गाय की सेवा कैसे की जाती है।”

उल्लेखनीय है कि हरियाणा में भाजपा लावारिस गोवंशों के लिए गौशालाएं बनाने, किसानों को नंदियों से मुक्ति दिलाने, गौशाला आयोग बनाने और गौ माता की सेवा के लिए अनेक कार्यक्रम चलाने के नाम पर सत्ता में काबिज हुई थी। लेकिन जमीनी हकीकत ये है कि हरियाणा में 1 लाख 5 हजार से ज्यादा लावारिस गोवंश सड़कों पर घूम रहे हैं। इतना ही नहीं, जींद और साहाबाद की गौशालाओं में दर्जनों गायों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली में गौशालाओं को रोजाना प्रति गाय 40 रुपये दिया जाता है, जबकि हरियाणा में मात्र 39 पैसे

हरियाणा गौ सेवा आयोग द्वारा प्रदेश की गौशालाओं को 22 करोड़ 97 लाख 71 हजार 366 रुपये की अनुदान राशि दी गई है। पहले प्रदेश में 360 गौशालाएं थी जिनमें 2 लाख 65 हजार गौ वंश थे। गत तीन वर्षों में प्रदेश में 160 गौशालाएं खोलने का कार्य किया गया है जिससे प्रदेश की सभी गौशालाओं में अब लगभग 3 लाख 85 हजार गौ वंश का पालन पोषण हो रहा है। आंकड़ों को बारीकी से देखें तो हरियाणा की खट्टर सरकार एक गाय के लिए रोजाना 39 पैसे देती है। वहीं, दिल्ली में गौशालाओं को प्रति गाय रोजाना 40 रुपये दिया जाता है।

खट्टर को लगेगा गाय माता का श्राप : नवीन जयहिन्द 

आम आदमी पार्टी हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद का कहना है कि खट्टर को गाय माता का श्राप लगेगा। जयहिंद कहते हैं कि गायों की रक्षा और सेवा का झूठा वादा करके खट्टर ने पाप किया है। गायें सड़कों पर लावारिस घूम रही हैं। गौ माता कचरा खाने को मजबूर हैं। सड़क हादसों में गायों की जान जा रही है।
उन्होंने ये भी कहा कि अगर हरियाणा में ठीक से जांच करा ली जाए तो लोग बिहार के चारा घोटाले को भूल जाएंगे। गायों की सेवा के नाम पर सत्ता में आए लोग गायों का चारा खा गये हैं।

लावारिस गायों का वजह से कई माननीय हो चुके हैं हादसे का शिकार 

लावारिस पशुओं के वजह से सड़क हादसे हरियाणा में सामान्य बात हो चुकी है। हरियाणा के चार विधायक भी लावारिस पशुओं के कारण होने वाले सड़क हादसे की चपेट में आ चुके हैं। इसको लेकर हरियाणा विधानसभा में भी बात उठ चुकी है। पिछले दिनों गन्नौर के मौजूदा विधायक और पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा का लावारिस पशुओं के चलते सड़क हादसा हुआ। इसके बाद उन्होंने हरियाणा विधानसभा में इस भीषण समस्या की तरफ सरकार का ध्यान दिलाया।



Important :   *This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.    

Leave a Reply