दिल्ली पुलिस हमारे पास होती तो सोशल मीडिया पर धमकी देने वालों की नाक में दम कर देते: केजरीवाल

0
336

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोशल मीडिया पर लोगों को धमकाने और गाली देने वालों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस हमारे पास होती तो हम ऐसे लोगों की नाक में दम कर देते। केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के आईटी सेल हेड अंकित लाल की किताब ‘इंडिया सोशल’ के रिलीज कार्यक्रम में यह बात कही। उन्होंने कहा कि एक-दो साल के भीतर सोशल मीडिया पर लोगों को धमकाने की घटनाएं बढ़ी हैं। ‘उनके’ नेताओं को कुछ कह दो, कार्टून बना दो तो सारी धाराएं लग जाती हैं, गिरफ्तारी हो जाती है। लेकिन ‘वे’ कह दें कि किसी का गला काट देने पर करोड़ों रुपये देंगे या रेप कर देंगे तो कुछ भी नहीं होता।

‘सीआरपीसी या आईपीसी से नहीं चल रहा देश’
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अन्ना आंदोलन के समय से सोशल मीडिया के इस्तेमाल का जिक्र करते हुए कहा कि उस वक्त सोशल मीडिया पर फर्जीवाड़ा कम था। लोग जो कॉमेंट करते थे वह ईमानदारी से करते थे, लेकिन अब फर्जीवाड़ा हो गया है। उन्होंने कहा ‘मैं कुछ भी पोस्ट डालता हूं तो उसमें ऐसे-ऐसे कमेंट आने लगते हैं कि…पहले यह देखकर दुख होता था, फिर लगा कि ये कॉमेंट लोग नहीं कर रहे, ये तो उनकी मशीन है, वे फर्जी अकाउंट बनाकर कॉमेंट करते हैं।’

उन्होंने कहा कि देश अब सीआरपीसी या आईपीसी से नहीं चल रहा, कौन किस पार्टी का है इससे चल रहा है। केजरीवाल ने कहा कि जो लोग फर्जी अकाउंट बनाकर सोशल मीडिया पर कॉमेंट करते हैं वे कायर हैं। अगर दिल्ली पुलिस हमारे पास होती तो हम ऐसे लोगों की नाक में दम कर देते जो सोशल मीडिया पर लोगों को धमकाते हैं और महिलाओं को गाली देते हैं। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया का यह फायदा है कि किसी खबर को अब छुपा या दबा नहीं सकते। हालांकि कई बार पता नहीं चल पाता कि कौन सी खबर असली है और कौन सी फर्जी।

‘जज ही सुरक्षित नहीं तो कैसे बचेगा लोकतंत्र’
केजरीवाल ने कहा कि जस्टिस लोया के बारे में आर्टिकल पढ़कर मैं रातभर सो नहीं पाया। जो परिस्थितिजन्य साक्ष्य सामने आ रहे हैं उससे लग रहा है कि उनकी हत्या हुई है। वह बेहद ही संवेदनशील मामले, अमित शाह के केस की सुनवाई कर रहे थे। उनकी मौत की जांच होनी चाहिए। इसमें चाहे कोई कितना भी बड़ा दोषी हो, उसे सजा होनी चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा कि मैं यह मांग जरूर कर रहा हूं पर ऐसा होना आसान नहीं है। यह तभी होगा जब पूरा देश एकसाथ खड़ा हो जाए। अभी देश चुप है। उन्होंने कहा कि अगर हम जजों को सुरक्षा नहीं दे पाएंगे, उन्हें सुरक्षित नहीं कर पाएंगे तो लोकतंत्र नहीं बचेगा।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here