सिग्नेचर ब्रिज से मोदी पर गरजे केजरीवाल, जनता से बोले- “अगर तुम हिन्दू-मुस्लिम के चक्कर में पड़ गए तो तुम्हारा बच्चा इंजीनियर नहीं बन पाएगा फिर उसको किसी मंदिर का पुजारी ही बनाना पड़ेगा।”

0
406

आखिरकार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का रविवार शाम को उद्घाटन कर दिया है। उद्घाटन के दौरान मंच से उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि स्टेच्यू और मंदिर-मस्जिद बनवाने से देश का विकास नहीं होगा, उन्होंने कहा कि देश की तरक्की हॉस्पिटल, स्कूल और सिग्नेचर ब्रिज बनाने से होगी।

केजरीवाल ने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को याद करते हुए कहा, देश सौभाग्यशाली है कि जवाहरलाल जैसा पहला प्रधानमंत्री मिला। नेहरू ने एक विजन के साथ देश की नींव रखी। उन्होंने आईआईटी, बीएचईएल और कई इंस्टीट्यूट बनवाए। पंडित नेहरू भी अगर मंदिर और स्टेच्यू बनवाते तो देश तरक्की नहीं करता।

BJP-कोंग्रेस की मंदिर-मस्जिद की जारी राजनीति पर हमला करते हुए केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार ने देश को मंदिर और स्टेच्यू में उलझा दिया है। अगर ये सरकार मंदिर या मस्जिद बनाती रही तो स्कूल अस्पताल कौन बनाएगा?

केजरीवाल ने बताया कि आज दिल्ली में 1000 मोहल्ला क्लीनिक बनने जा रहे हैं, देश की असली तरक्की तब होगी जब हर गांव में मोहल्ला क्लीनिक बनाये जाएंगे। साथ ही केजरीवाल ने जनता को सचेत करते हुए अपील की अगर आप भी इनके हिन्दू-मुस्लिम के चक्कर में पड़ गए तो आपका बच्चा इंजीनियर-डॉक्टर नहीं बन पाएगा फिर उसको किसी मंदिर में पुजारी ही बनाना पड़ेगा।

सभी लोग अपनी आस्था अनुसार मंदिर-मस्जिद में जाते तो हैं लेकिन वहां जाकर अपने बच्चे के उज्ज्वल भविष्य के लिए ऊपर वाले से उसको इंजीनियर-डॉक्टर जैसा बड़ा आदमी बनाने की दुआ मांगते हैं। किंतु जब सरकारें उनकी नींव मजबूत करने के लिए अच्छे स्कूल बनाने की जगह मंदिरों के झगड़े में ही लगी रहेंगी तो फिर आपका बच्चा इतनी खराब शिक्षा व्यवस्था और बेरोजगारी की बढ़ती समस्या से कैसे बड़ा आदमी बन सकेगा आप ही सोचिए।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अबतक दिल्ली को लाल किले और क़ुतुबमीनार से जाना जाता है लेकिन अब इनके साथ ही भव्य सिग्नेचर ब्रिज से भी दिल्ली को जाना जाएगा। जब विदेशी सैलानी भारत भ्रमण पर आएंगे तो घूमने के लिए उनकी लिस्ट में सिग्नेचर ब्रिज जरूर होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस ब्रिज का सपना 1997 में देखा गया था अगर आज दिल्ली में ईमानदार सरकार न होती तो अगले 5 साल तक भी ये सिग्नेचर ब्रिज नहीं बन पाता।

सिग्नेचर ब्रिज का क्रेडिट मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उपमुख्यमंत्री को देते हुए कहा कि सिर्फ मनीष सिसोदिया के अथक प्रयासों की वजह से समय से यह सिग्नेचर ब्रिज बनकर तैयार हो सका है। उन्होंने केंद्र से लड़-लड़कर फाइलें पास करायीं, हर हफ्ते औचक निरीक्षण करके ईमानदारी से समय पर इसका निर्माण पूरा कराया है। उन्होंने कहा कि विज्ञान और इंजीनियरिंग से ही देश आगे बढ़ सकता है।



*This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.

Leave a Reply