भ्रष्ट फूड कमिश्नर के सस्पेंशन की फाइल दबाकर बैठे LG, राशन चोरी पर केजरीवाल ने दिए थे सस्पेंड करने के आदेश।

0
474

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और उत्तरी-पूर्वी लोकसभा दिल्ली के प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने कहा कि राशन वितरण घोटाले में शामिल आरोपी दिल्ली के फ़ूड कमिश्नर को बर्खास्त करने का आदेश जारी करे हुए लगभग 24 घंटे हो चुके हैं, लेकिन अभी तक उपराज्यपाल महोदय इस फ़ाइल को दबाकर बैठे हैं। उपराज्यपाल से लेकर भाजपा तक सभी शक्तिशाली लोग भ्रष्ट फ़ूड कमिश्नर के सामने नतमस्तक है। भ्रष्ट कमिशनर को बचाने के लिए सभी कंधे से कंधा मिलाकर एक कतार में खड़े हैं।

Also Read : केजरीवाल के मंत्री ने राशन की दुकान पर मारा छापा, पकड़ी लाखों की राशन चोरी।

गुरुवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उत्तरी-पूर्वी लोकसभा के प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने कहा कि जैसा कि आप सबको ज्ञात है कल हमने एक प्रेस वार्ता के माध्यम से बताया था कि किस तरह से दिल्ली में भाजपा और उपराज्यपाल की मिलीभगत भगत से फ़ूड कमिश्नर की साझेदारी में राशन की कालाबाजारी चल रही है। किस तरह से गरीब आदमी के हक़ का राशन बाज़ार में बेचा जा रहा है, और उसका हिस्सा भाजपा, उपराज्यपाल से लेकर बड़े सरकारी अधिकारियों तक की जेब में जा रहा है।

कैबिनेट मंत्री इमरान हुसैन के छापा मारने के बाद, उसके सारे तथ्य मुख्यमंत्री साहब के समक्ष रखे गए, और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने तत्काल प्रभाव से फ़ूड कमिश्नर को बर्खास्त करने के आदेश पास करके उसके फ़ाइल उपराज्यपाल महोदय के पास भिजवा दी। ये बड़े ही दुःख की बात है की इस बात को 24 घंटे बीत चुके हैं लेकिन दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय ने इस पर अभी तक कोई सख्त कदम नहीं उठाया है। तो क्यों न माना जाए की राशन की इस लूट में उपराज्यपाल महोदय की भी बराबर की हिस्सेदारी है।

Also Read : दिल्ली में गरीबों की राशन चोरी पर केजरीवाल की सख्ती, ‘फूड कमिश्नर’ को किया सस्पेंड !

लगभग 3.25 लाख क्विंटल से भी ज्यादा राशन की कालाबाजारी प्रतिमाह दिल्ली में फ़ूड कमिशनर की नाक के नीचे हो रहा है। और ये संभव ही नहीं है की उनकी जानकारी के बिना ये हो रहा था। उपराज्यपाल महोदय ने अभी तक कोई कार्यवाही क्यों नहीं की ये समझ से परे है। दिल्ली की जनता के हितों को सुनिश्चित करना ही तो उपराज्यपाल साहब की जिम्मेदारी है। लेकिन ये समझ नहीं आ रहा है की उपराज्यपाल महोदय और भाजपा की दिल्ली के जनता से ऐसी क्या दुश्मनी है की वो गरीब आदमी के पेट पर लात मारने पर तुले हुए हैं। 24 घंटे बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही ने करना, मतलब उपराज्यपाल साहब दिल्ली की जनता को ये सन्देश देना चाहते हैं की मेरे लिए भाजपा सर्वोपरि है, मै भाजपा के और राशन माफिया के साथ मिलकर राशन की कालाबाजारी करूँगा, पैसा खाऊंगा, मुझे तुम्हारे हितों की कोई चिंता नहीं है।

आज दिल्ली का आम आदमी बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति से गुज़र रहा है। आज भाजपा में और सरकारी दफ्तर में ऐसे लोग बैठे हैं जिनको दिल्ली की जनता से कोई सरोकार नहीं है। भाजप से लेकर उपराज्यपाल महोदय तक सभी शक्तिशाली लोग राशन माफियाओं के बचाओ में कतार बद्ध होकर खड़े हुए हैं, और तत्काल प्रभाव से कोई कार्यवाही न करके इन सब लोगो ने दिल्ली की जनता को ये सिद्ध कर दिया है कि भाजपा का, उपराज्यपाल महोदय का, और राशन माफियाओं का जन्म-जन्मातर का रिश्ता है, और अब ये रिश्ता टूटने वाला नहीं है।

जो आरोप कल भाजपा और उपराज्यपाल महोदय पर लगे थे, अब वो सही साबित होते नज़र आ रहे है, दिल्ली की जनता सब देख रही है और 2019 के चुनाव में, जिस तरह से भजने ने गरीबो के पेट पर लात मारने का काम किया है, उसी प्रकार से आम आदमी भाजपा को वोट से इसका जवाब देगी और सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी।



Important :   *This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.    

Leave a Reply