सिग्नेचर ब्रिज की ख़ूबसूरसी ने केजरीवाल के विरोधियों को भी किया आकर्षित, उद्घाटन देखने पहुचेंगे मनोज तिवारी।

0
6721

हमने लड़-लड़कर कर है बनवाया, …आखिर सपना हुआ सच। दिल्ली के लिए है गर्व का पल, सिग्नेचर ब्रिज के उद्‌घाटन के मौके पर दिल्ली के सभी लोग हैं आमंत्रित। – उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

आखिरकार यमुना नदी पर स्थित बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज बनकर तैयार हो गया है जिसका उद्घाटन आज खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करेंगे। सन 1997 में जिस ब्रिज की कल्पना की गयी थी उसका सपना आज केजरीवाल सरकार ने सच कर दिखाया है।

हालांकि इस ब्रिज के निर्माण के लिए दिल्लीवालों को 14 वर्षों तक इंतेज़ार करना पड़ा। आखिरकार जब दिल्ली में केजरीवाल सरकार बनी तो उन्होंगे इसे प्रमुखता से लेते हुए इसके निर्माण में सभी अड़ंगे खत्मकरा, हर हफ्ते खुद औचक निरीक्षण कर इस अद्भुत सिग्नेचर ब्रिज का निर्माण का काम पूरा कराया है।

निर्माण के लिए लंबे इंतेज़ार से ज्यादा आज यह सिग्नेचर ब्रिज अपनी खूबसूरती के लिए चर्चा में है। इसमें एशिया का सबसे ऊंचा पायलन लगा है जिसमें लगे कांच के ग्लास हाउस से पूरी दिल्ली का अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा। लिफ्ट के जरिये इस ग्लास हाउस में जाकर दिल्ली के खूबसूरत नजारे को देखना हर किसी की तमन्ना होगी।

अगर हम दिल्ली सिग्नेचर ब्रिज को दूर से देखेगें तो धनुष के आकर का दिखाई देगा। ये सिग्नेचर ब्रिजबस दो स्टील के पिलरों पर टिका होगा। जो कि ब्रिज के ऊपर ही होंगें। इस ब्रिज के नीचे किसी भी प्रकार की कोई सपोर्ट नहीं होंगी, तथा इन पिलरों पर स्टील तार लगे होने जो की पूल की नीचे की सतह से अटैच होंगे। यह किसी कमाल से कम नहीं होगा कि ये पूरा सिग्नेचर ब्रिज इन स्टील तारो पर ही टिका हुआ है।

केजरीवाल के घोर विरोधी खुद मनोज तिवारी शाम 3 बजे उद्घाटन देखने पहुंचेगे।

सिग्नेचर ब्रिज की इस खूबसूरती की चर्चा चहुंओर हो रही है। यही वजह है की केजरीवाल के घोर विरोधी खुद BJP के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी भी आज शाम होने वाले सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में मौजूद होंगे। मनोज तिवारी ने ट्वीट करते हुए कहा कि वे शाम 3 बजे सिग्नेचर ब्रिज पर पहुचेंगे। उन्होंने कहा कि यह ब्रिज जनता के लिए बेहद जरूरी है। हालांकि उन्होंने इसके निर्माण में लगने वाली 15 साल की देरी को शर्मनाक बताया।

Must Read : जानें दिल्ली की शान सिग्नेचर ब्रिज की खासियत। इसमें लगे एशिया के सबसे ऊंचे पायलन पर चढ़कर दिल्ली का अद्भुत नजारा देखना होगी हर किसी की तमन्ना

मनोज तिवारी को जवाब देते हुए दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी ने सिग्नेचर ब्रिज का काम रुकवाने के लिए हर संभव कोशिश की। नाकारा अफसरों को इंचार्ज बनाकर एक साल फाइलें नहीं हिलने दीं। अफसरों को डराया धमकाया। हमने लड़ लड़कर फाइलें क्लियर करवाईं। हर हफ्ते निरीक्षण किया।…आखिर सपना पूरा हुआ। यह पुल बीजेपी के लिए शर्मनाक हो सकता है, दिल्ली के लिए गर्व का अवसर है। सिग्नेचर ब्रिज के उद्‌घाटन के मौके पर दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी लोगों को आमंत्रित किया है।

Also Read : केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की सड़कों पर उतारी इलेक्ट्रिक बस, प्रदूषण कम करने के साथ मुसफरों को मिलेंगी ये बड़ी सुविधाएं।



*This is a personal blog. All content provided on this blog is for informational purposes only. The owner of this blog makes no representations as to the accuracy or completeness of any information on this site.

Leave a Reply