“बहुत हुई महंगाई की मार अबकी बार पेट्रोल 80 के पार”

0
81

2014 में मोदी सरकार को चुनने की कीमत चुका रहे हैं लोग

अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमत गिरने के बावजूद, देश में लगातार बढ़ते पेट्रोल और डीज़ल के दाम, एक बड़े तेल घोटाले की ओर इशारा करते हैं: AAP

*“बहुत हुई महंगाई की मार अबकी बार मोदी सरकार” से लेकर

“बहुत हुई महंगाई की मार अबकी बार पेट्रोल 80 के पार”* 

भाजपा सरकार जानबूझ कर, कुछ लोगो को फायदा पहुँचाने के इरादे से, अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमत कम होने के बावजूद देश में पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़ाए जा रही है, ताकि 2019 में होने वाले चुनावों का खर्चा निकाला जा सके

मंगलवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिलीप पाण्डेय ने कहा कि *‘अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम लगातार गिरने के बावजूद देश में पेट्रोल के दाम बढ़ते ही जा रहे हैं*, हर जगह हाहाकार मचा हुआ है, बात बात पर हर चीज़ का श्रेय लेने वाले मोदी जी आज पट्रोल के बढ़ते दामों की ज़िम्मेदारी लेने से पीछे हट रहे हैं।

आप सबकी जानकारी में होगा कि जब से भाजपा की सरकार देश में बनी, तब से अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम घटना शुरु हो गए थे। *जब-जब अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम घटे, हमारे देश में पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने कि बजाए और बढ़ा दिए गए*। जनवरी 2014 से लेकर जनवरी 2016 तक केंद्र की भाजपा सरकार ने देश में 9 बार एक्साइज़ ड्यूटी के दाम बढ़ाए और जनता की खून पसीने की गाढ़ी कमाई लूट कर अपना खज़ाना भरा है।

पेट्रोल और डीजल पर दी जाने वाली एक्साइज ड्यूटी के आंकड़ो की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि *मई 2014 में पेट्रोल के ऊपर जो सेन्ट्रल एक्साइज ड्यूटी 9.20 रूपए प्रति लीटर और डीजल पर 3.46 रूपए प्रति लीटर थी, आज केंद्र की भाजपा सरकार ने उसे पेट्रोल पर 212 प्रतिशत बढ़ा कर 19.48 रूपए प्रति लीटर और डीज़ल पर 443 प्रतिशत बढ़ा कर 15.33 रूपए प्रति लीटर कर दिया है।*

उन्होंने कहा कि बिना किसी शर्त के, बिना किसी योजना के देश में अनाप-शनाप पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ाए जा रहे हैं और कोई जवाब देने को तैयार नहीं है। विपक्ष में रहते हुए भाजपा के जो नेता देश में पेट्रोल और डीज़ल के बढ़े दामों का विरोध करने के लिए सड़कों पर मोटर-साईकिल को पैदल घसीटते नज़र आते थे, आज वो सभी एक विलुप्त प्रजाति की तरह कहीं दिखाई ही नहीं दे रहे।

मीडिया के माध्यम से दिलीप पांडे ने केंद्र की भाजपा सरकार को घेरते हुए उनके समक्ष कुछ सवाल रखे जो इस प्रकार हैं….

1-       किन लोगों को फायदा पहुँचाने के लिए लगातार पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि करते जा रहे हैं, जनता उनके नाम जानना चाहती है?

2-       अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम घटने के बावजूद, देश में लगातार पेट्रोल और डीज़ल के दाम क्यों बढ़ाए जा रहे हैं?

3-       देश में बढ़ते पेट्रोल-डीज़ल के दामों को नियंत्रित करने के लिए केंद्र सरकार के पास कौन-कौन सी रणनीतियां हैं?

आम आदमी पार्टी देश में अनुचित तरीके से लगातार बढ़ रहे पेट्रोल और डीज़ल के बढ़ते दामों के खिलाफ है, इसकी घोर निंदा करती है और प्रधानमंत्री मोदी से निवेदन करती है कि देश की जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए, देश में लगातार बढ़ते हुए पेट्रोल-डीज़ल के इन दामों पर नकेल कसें, और जनता को राहत प्रदान करें।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here