7 साल की रेप पीड़िता से मिली स्वाति मालिवाल, अस्पताल में गुजारी रात

0
46

कंझावला इलाके में दुष्कर्म की शिकार सात वर्षीय बच्ची से मिलने पहुंचीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने पूरी रात अस्पताल में बिताई। स्वाति ने लिखा कि मेरी जगह कोई भी होता, जो बच्ची से आंख मिलाता, तो उसकी हिम्मत न होती वहां से जाने की। हमारी बेटी के साथ हो, तो क्या हमें नींद आएगी? सड़ चुका है सिस्टम। स्वाति ने ट्वीट कर यह जानकारी साझा की। इस दौरान देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह से अपील भी की कि बच्चों को हवस का शिकार बनाने वालों के मन में डर बैठाना बेहद जरूरी है। इसके लिए दोषियों को 6 महीने के अंदर फांसी देने का प्रावधान लाया जाए।

स्वाति सोमवार रात को रोहिणी स्थित आंबेडकर अस्पताल पहुंचीं, जहां सात वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता का उपचार चल रहा है। ट्वीट के जरिए उन्होंने बताया कि वह अस्पताल में हैं। सात वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता से मिलने आई हैं। बच्ची को गंभीर सर्जरी से गुजरना पड़ा है। देश की राजधानी में बच्चों के साथ हो रहे दुष्कर्म की घटनाओं से काफी आहत हूं। कुछ दिन पहले ही डेढ़ वर्षीय बच्ची के साथ रेप की घटना सामने आई थी। वह बच्ची अभी रिकवर भी नहीं कर पाई है कि अब सात साल की बच्ची के साथ यह घिनौना काम किया गया है। जिस दिन से मैं डेढ़ वर्षीय रेप विक्टिम से मिली हूं, उस दिन से ठीक से सो नहीं पाई हूं। अब इस बच्ची से मिलने के बाद तो मैं और भी ज्यादा सदमे में हूं। दोनों ही बच्चियों की आंखें सवाल पूछती हैं, डराती हैं, कौन उनके सवालों का जवाब देगा।

गृहमंत्री से की अपील
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से यह मांग की है कि बच्चों के साथ होने वाली यौनाचार की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए एक हाईलेवल कमिटी तैयार की जानी चाहिए। बच्चों के साथ होने वाले रेप को रोकने के लिए मानसिकता बदलनी होगी। डर पैदा करना होगा- हर हाल में 6 महीने में फांसी। इस पर उच्चस्तरीय बैठक बुलाएं। सुबह लगभग सात बजे स्वाति अस्पताल से वापस लौटीं।

स्वाति के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी उनका सपॉर्ट करते हुए ट्वीट किया।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here